ऐसे बोलो की दिल का अफ़साना

Jul 9, 2016 by

ऐसे बोलो की दिल का अफ़साना

ऐसे बोलो की दिल का अफ़साना,
दिल सुने और निगाह दोहराये,
अपने चारों तरफ की ये दुनिया,
साँस का शोर भी ना सुन पाये,
ना सुन पाये…

Comments

comments

Related Posts

Tags

Share This